पूर्णिया में अब रेल डब्बों के रूप में सरकारी विद्यालय

निमिषा शांडिल्य
पटना: कोरोना काल एवं लॉक डाउन ने दुनिया में बहुत कुछ बदल डाला है। ऐसे में जहां चिकित्सा जगत इसकी दवाओं की खोज में लगा है वहीं प्रशासन कार्य में लगी सरकारें एवम अधिकारी भी विकास की नई दिशाओं की तलाश में लगे हैं। इस क्रम में बिहार के पूर्णिया जिले में लॉक डाउन के बाद खुलने वाले कुछ स्कूलों को  ऐसे निखारा जा रहा है जिससे नए सत्र में छात्र  अपने वर्गों को रेल गाड़ी के डब्बों के रूप में पाएंगे। उत्क्रमित उच्च विद्यालय गुलायटोल बेलतरी बनमनखी, उत्क्रमित उच्च विद्यालय शिला नाथ रूपौली एवम् पूर्णिया पूर्व के मध्य विद्यालय महेंद्रपुर की कक्षाओं को रेल के डिब्बे का रूप दिया गया है।
पूर्णिया के जिलाधिकारी राहुल कुमार ने बताया कि लॉक डाउन में लंबे समय तक सिमटे रहने के कारण बच्चों में डिप्रेशन की संभावना बनी रहती है ऐसे में नए सत्र में अपने विद्यालय भवनों को नए रूप रंग में पाकर उनमें नई ऊर्जा का संचार होगा। शैक्षणिक गतिविधियों में भी उनकी रुचि बढ़ेगी।इसी क्रम में जिले के 58 आंगनवाड़ी केन्द्रों को भी सजा संवार कर आकर्षक बनाया जा रहा है। इसके पूर्व बेगूसराय एवम् गोपालगंज के जिलाधिकारी के रूप में भी राहुल ने सरकारी विद्यालयों में शैक्षणिक गुणवत्ता बढ़ाने के लिए अनेक कार्य किए थे।

One thought on “पूर्णिया में अब रेल डब्बों के रूप में सरकारी विद्यालय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat